डॉ. गुँजारिका राँका – बालमनोविज्ञान एवं वैदिक ज्योतिष विशेषज्ञ

मन ही मन को जाने, मन की मन से प्रीत…

मन ही मनमानी करे, मन ही मन का मीत!

मन झूमे..मन बांवरा..मन की अद्भुत रीत…

मन के हारे हार हैं…मन के जीते जीत !!

नमस्कार…मन के संसार में आपका स्वागत हैं !

मन यानि क्या ?
मन न मस्तिष्क (brain) हैं न ह्रदय (heart). मन यानि महसूस कर सकने की क़ाबलियत।
क्या महसूस कर सकने की ?
विचार, दृष्टिकोण, इच्छाएँ, इरादे, भावनाएं — अपनी भी और दूसरों की भी।
मन सबसे बेहतरीन मित्र भी सिद्ध हो सकता हैं और सबसे विकट शत्रु भी। कैसे?
मन को विवेक का साथ मिल जाए तो मित्र हैं और मन को आवेगों (impulses) का साथ मिल जाये तो शत्रु !
अपनी हर उलझन, हर पीड़ा का साझीदार मित्र को बनाना चाहते हैं या शत्रु को यह निर्णय आप ही के हाथ में हैं।

करना चाहेंगे अपने मन से दोस्ती ?
अगर हाँ, तो सही जगह पर हैं आप 🙂

डॉ. गुँजारिका राँका

मनोवैज्ञानिक, वैदिक ज्योतिषी एवं शाम्भवी साधक

बाल एवं किशोर मनोविज्ञान

बहुत बार बच्चे अपनी समस्या खुल कर नहीं बता पाते, कई बार ऐसा भी होता हैं की वे खुद भी नहीं समझ पा रहे होते की समस्या क्या हैं। ऐसे में मनोवैज्ञानिक से संपर्क उनकी और आपकी उलझन सुलझा सकता हैं।

तनाव तथा अवसाद से मुक्ति

हम किस तरह से सोचते हैं इसका सीधा असर हमारी मनस्थिति और व्यवहार पर पड़ता हैं। बहुत बार ऐसा होता हैं की हम ‘उस तरह’ से सोचने से खुद को रोक नहीं पाते और नतीजतन हम खुद को एक कभी न ख़त्म होने वाले चक्रव्यूह में पाते हैं। हर परिस्थिति में हमारे सामने कैसा व्यवहार करना है इसके विकल्प मौजूद होते हैं और हम उन में से एक विकल्प को चुनते हैं चाहे सजग रह कर चाहे अनजाने में पर चुनते अवश्य हैं। MCBT मनोविज्ञान और आध्यात्म की वह संयुक्त प्रक्रिया हैं जिस से आप विकल्पों को परखना सीखते हैं और खुद को तनाव दिए बिना निर्णय लेना और निर्णय को निभाना सीखते हैं।

वैदिक-ज्योतिष

जन्म कुंडली प्रत्येक व्यक्ति के व्यक्तित्व का एक नक्शा होती हैं। आपकी जन्म कुंडली का हर भाव, राशियाँ, ग्रह-स्थिति ये सब जीवन में आने वाली परिस्थितियों के साथ साथ ये भी बताती हैं की उन पर आपकी संभावित प्रतिक्रिया कैसी होगी, यानि की आप किस तरह के संस्कार लिए हुए हैं। ये जान लेने के बाद यह जानना सरल हो जाता हैं की आपकी वास्तविक समस्या क्या हैं और कहाँ हैं। समस्या की पहचान उसके निराकरण का मार्ग खोल देती हैं।

आप अपने मित्रों के आगे अपना दिल खोल सकते हैं,
परंतु मनोवैज्ञानिक आपका वह मित्र+चिकित्सक हैं जो मन को खोलता हैं, विचारों की सर्जरी करता हैं और उसे फिर से सिलना भी जानता हैं।

बाल-मनोविज्ञान/परवरिश ब्लॉग

PARENTING BLISS

आपके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण योगदान ये होता हैं की आप समाज को कैसा भविष्य सौंपते हैं। आने वाले कल के समाज की परवरिश आज आपके ही घर में हो रही हैं। नन्हे मन की आज की अनसुलझी गुत्थियाँ कल उनका जटिल व्यक्तित्व बन सकती हैं। उन्हें सुनिए, समझिये, और प्यार से सुलझा दीजिये। कैसे? जानिए यहाँ !

मनःस्थली ब्लॉग

LOVE YOU ME

चिंता आपसे छीन लेती हैं आपकी सबसे कीमती चीज – “आप”
आप अपने सबसे अच्छे मार्गदर्शक हैं, सबसे अच्छे दोस्त है। अपने इस सबसे प्यारे साथी को खुद से कभी अलग न होने दे, चाहे जैसी भी परिस्थिति हो, अपने आप को प्यार करना कभी बंद न करें। मिलिए अपने आप से, यहीं !

आध्यात्म एवं ज्योतिष ब्लॉग

PROMISING DESTINY

भाग्य किसी को खाली हाथ नहीं रखता। जन्म लेने से पहले ही हम अपने हिस्से के उपहार चुन चुके हैं। हमें क्या मिला हैं, ये जानने के लिए पहले स्वयं को जानना आवश्यक हैं। ये जीवन एक स्कूल हैं जहाँ सबके लिए लक्ष्य तो एक ही हैं पर पाठ्यक्रम सबका अलग-अलग हैं। तो क्या हैं आपका पाठ्यक्रम (syllabus) जानिए यहाँ !